इस लेख में हम Koo App क्या है इसके बारे में विस्तार से जानेंगे, अगर आप भी भारत के माइक्रो ब्लॉग्गिंग सोशल मीडिया प्लेटफार्म कू के बारे में जानना चाहते हैं तो यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित हो सकता है।

कू ऐप ट्विटर की तरह माइक्रो ब्लॉगिंग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है। यह एप्लीकेशन पूर्ण रूप से भारतीय एप्लीकेशन है जिसे भारत के डेवलपर ने बनाया है। आइये विस्तार से कू एप्लीकेशन के बारे में जानते हैं:

Koo App क्या है? कू ऐप के बारे में पूरी जानकारी

Koo App क्या है?

कू ट्विटर की तरह ही माइक्रो ब्लॉगिंग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है। इसमें आप 400 कैरेक्टर के पोस्ट और 1 मिनट तक के ऑडियो या वीडियो शेयर कर सकते हैं साथ ही आप इसमें लोगों को फॉलो कर सकते हैं और अपने दोस्तों फैमिली मेंबर के साथ चैट भी कर सकते हैं।

इस एप्लीकेशन में आपको अलग-अलग कैटेगरी के न्यूज़ देखने को मिलेंगे। यह भारत का पहला एप्लीकेशन है जो ट्विटर का अल्टरनेटिव है। कू भारत को भारत में ही बनाया है जो उपयोगकर्ताओं को अपनी भाषा में पोस्ट करने की अनुमति देता है।

जब आप साइन अप करते हैं तो आप अकाउंट सेटअप करने के दौरान भारतीय भाषाओं को सेलेक्ट कर सकते हैं। हालाँकि, आप केवल एक भाषा का चयन कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, मैं हिंदी और अंग्रेजी के दोनों को एक साथ सेलेक्ट नही कर सकता। इसमें आपको अंग्रेजी, हिंदी, कन्नड़, तेलुगु, तमिल मराठी, बंगाली, मलयालम, उड़िया, पंजाबी, असमिया और गुजराती भाषाएं हैं।

उपयोगकर्ता अपनी पसंदीदा भाषा में विषयों को ब्राउज़ कर सकते हैं और अपनी मातृभाषा में इस एप का उपयोग कर सकते हैं। भारतीय उपयोगकर्ताओं के लिए क्षेत्रीय भाषाओं में टाइप करना मुश्किल हो सकता है इसलिए ऐप ने इस परेशानी को ठीक करने के लिए वॉयस और वीडियो पोस्टिंग विकल्प भी देता है।

Koo: Connect with Indians in Indian Languages ????

संस्थापकAprameya Radhakrishna
सी ई ओAprameya Radhakrishna
रिलीज़ की तारीखMarch 2020
ऑपरेटिंग सिस्टमAndroid, IOS
मूल देशIndia
वेबसाइटhttps://www.kooapp.com/

कू एप्प के फीचर्स

कू एप्प अभी शुरुआती दौर में है उम्मीद है आने वाले समय में इसमें कई सारे नए फीचर देखने को मिलेंगे। आइए अब हम इस एप्लीकेशन में दिए गए फीचर्स के बारे में जानते हैं।

  1. इंडिया न्यूज़ पर अपनी राय साझा कर सकते हैं
  2. भारतीय समाचार पत्रों और चैनलों द्वारा पोस्ट की गई ट्रेंडिंग इंडियन न्यूज़ देख सकते हैं
  3. भारतीय समाचार रिपोर्टर्स, पत्रकारों, राजनेताओं, क्रिकेटरों, अभिनेताओं, कार्यकर्ताओं और अन्य दिलचस्प लोगों को फॉलो कर सकते हैं
  4. शीर्ष भारतीय समाचार पत्रों से समाचार पढ़ सकते हैं
  5. अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ चैट कर सकते हैं

कू ऐप डाउनलोड कैसे करें?

यह एप्लीकेशन एंड्रॉयड और आईओएस यूजर्स के लिए उपलब्ध है। इसे आप प्ले स्टोर या कू ऐप के वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। इस एप्लीकेशन को प्ले स्टोर पर बहुत ही अच्छा रिस्पांस मिला है। इसे एक मिलियन से अधिक लोग डाउनलोड कर चुके हैं साथ ही इसे 4.8 की रेटिंग मिला है।

अगर आप इसे अपने कंप्यूटर में इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके वेबसाइट kooapp.com का उपयोग कर सकते हैं।

कू एप्लीकेशन का इस्तेमाल कैसे करें?

इस एप्लीकेशन को इस्तेमाल करना बेहद ही आसान है।

  1. प्ले स्टोर से डाउनलोड करें
  2. इसे खोलें और अपने पसंदीदा भाषा का चुनाव करें
  3. अपने मोबाइल नंबर से वेरीफाई करें
  4. अब आप इस एप्लीकेशन को इस्तेमाल करने के लिए तैयार हैं।
  5. अब आप किसी को भी फॉलो कर सकते हैं, किसी के पोस्ट को लाइक या शेयर कर सकते हैं या फिर टेक्स्ट इमेज वीडियो कि मदद से अपने ओपिनियन शेयर कर सकते हैं।

Koo App का मालिक कौन है और इसे किसने बनाया?

कू एप के मालिक अप्रमेय राधा-कृष्ण है। लिंक्डइन प्रोफाइल के अनुसार, कू ऐप के सह-संस्थापक और सीईओ अप्रमेय राधाकृष्ण ने आईआईएम अहमदाबाद से एमबीए और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, कर्नाटक से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है। 2015 में स्थापित बैंगलोर स्थित एक निजी फर्म, Bombinate Technologies Private Limited ने कू का आविष्कार किया। कंपनी की वेबसाइट के अनुसार, यह “कंप्यूटर से संबंधित अन्य कार्यों में संलग्न है जैसे अन्य फर्मों की वेबसाइटों को मैनेज करना/अन्य फर्मों के लिए मल्टीमीडिया प्रेजेंटेशन बनाना, आदि”

ज़ोहो और चिंगारी जैसे अन्य भारत में बनाये गए ऐप के साथ-साथ कू ऐप ने आत्मानिभर ऐप इनोवेशन चैलेंज जीताथा। उनके सीईओ के अनुसार, ऐप को पहले ही 3 मिलियन से अधिक डाउनलोड हो चुके हैं।

भारत में जब से चीनी ऐप बैन होने की शुरुआत हुई है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर नारा देने के बाद ऑनलाइन दुनिया में लोगों के लिए कई सारे नए मौके मिले हैं। खासतौर से कई सारे एप डेवलपर इस मौका का भरपूर फायदा उठा रहे हैं साथ ही देश वासियों का भरपूर सपोर्ट मिल रहा है। भारत में कई सारे नए एप्लीकेशन लांच हो रहे हैं उनमें से एक है कू एप्प भी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात में इस KOO APP के बारे में जिक्र किया था साथ ही यह आत्मनिर्भर भारत एप इनोवेशन चैलेंज का विजेता भी है।

इन्हें भी देखें

क्या इस एप्लीकेशन को उपयोग करना चाहिए?

जी हाँ ! अगर आप भारतीय है और ट्विटर जैसे एप्लीकेशन का उपयोग करते हैं तो आपको कू एप्प को जरुर इस्तेमाल करें। यह प्लेटफार्म आपको कई सारे भारतीय भाषा में उपयोग करने की सुविधा देती है, इस वजह से कई सारे लोग अपनी बातों को शेयर कर सकते हैं।

कू एप्लीकेशन से सम्बंधित अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

कू एप्प के फाउंडर कौन हैं

इस एप्लीकेशन के co-founder Aprameya Radhakrishna और Mayank Bidawatka है।

कू एप्प कौन से देश का है?

कू एप्प भारतीय एप्प है जिसे भारत के डेवलपर ने बनाया है।


आज के इस आर्टिकल में हमने कू ऐप क्या है, इसके बारे में जाना। उम्मीद करते हैं इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद इस सोशल मीडिया प्लेटफार्म के बारे में काफी कुछ जानने को मिला होगा।

अगर यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित हुआ हो तो इसे अपनों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें। हिंदी टिप्स दुनिया के नए आर्टिकल्स के अपडेट पाने के लिए फेसबुक , ट्विटर और टेलीग्राम पर फॉलो करें